अगलगी में नौ बच्चों की मौत, लाखों की सम्पति जल कर राख

पटना : बिहार में आग लगने से नौ बच्चों की जलकर मौत हो गयी। पीड़ित परिवार के बीच कोहराम मच गया है। घटना के बाद बच्चों के परिजनों और उनकी माताओं को दिलासा देने का लोग प्रयास कर रहे हैं। पहली घटना में अररिया जिले के पलासी प्रखंड के छातापुर पंचायत के कबैया गांव में लगी  भीषण  आग में छह बच्चों की झुलसकर मौत हो गयी। पलासी के प्रखंड  विकास पदाधिकारी ने बताया कि कुछ बच्चे मकई को आग पर भून रहे थे कि उसी समय एक चिंगारी उड़ी जिससे झोपड़ी में आग लग गयी। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने छह बच्चों की झुलसकर मौत हो  जाने पर गहरा दुःख व्यक्त किया है। मृतकों में फारूक का चार वर्षीय बेटा बरकस, मतीन का पांच वर्षीय बेटा अली हसन, युनुश का पांच वर्षीय बेटा अशरफ और तीन वर्षीय बेटी गुलनाज, मंजूर का छह वर्षीय बेटा दिलवर, तनवीर का पांच वर्षीय बेटा खुसनिहार हैं।  पुलिस के अनुसार प्रखंड के कबैया गांव में भाई-बहन समेत छह बच्चे फूस के बने घर में छिपकर भुट्टा (मक्का) भून रहे थे। इस दौरान उड़ी चिंगारी से घर में आग लग गई और बच्चों को घर से निकलने का मौका तक नहीं मिला। आग लगने के बाद बच्चों ने शोर मचाया जिसे सुनकर जब तक लोग पहुंचते तब तक सभी बच्चे आग में जिंदा जल चुके थे। घटना में किसी भी बच्चे को लोग बचा नहीं जा सके।  बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने दुर्घटना में मृत बच्चों के  परिजनों को तत्काल चार-चार लाख रूपये का अनुग्रह अनुदान देने का निर्देश  अधिकारियों को दिया है।

दूसरी घटना में  भागलपुर जिले के पिरपैती थाना क्षेत्र के   अठनिया गांव में एक घर में आग लगने में तीन बच्चों की झुलसकर मौत हो  गयी।  प्रशासन ने तत्काल मृतक के परिजनों को चार-चार लाख रूपये अनुग्रह  राशि देने की घोषणा की है। बांका जिले के रजौन थाना क्षेत्र के उपरामां गांव में चार  झोपड़ियों में आग लगने से तीन लाख की संपत्ति जलकर नष्ट हो गयी।

Leave a comment