आपराधिक प्रवृत्तियों सहित आपदा के दौरान वास्तविक और सटीक जानकारी प्राप्त करना होगा सुगम – नित्यानंद राय

नई दिल्ली : केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय ने समन्वय निदेशालय पुलिस बेतार (डीसीपीडब्लू) के दो दिवसीय  ‘जन सुरक्षा और आपदा राहत के प्रमुखों के सम्मेलन दो हजार बीस की शुरूआत की।

सम्मेलन में  देश के सभी राज्यों  और केंद्र शासित प्रदेशों के पुलिस प्रमुख सहित आपदा राहत से जुड़ी एजेंसियों के प्रमुख  भाग ले रहे थे। श्री राय  ने कहा कि  डीसीपीडब्लू ने जो प्रयास किया है वह देश में संचार व्यवस्था के क्षेत्र में  विशेष रूप से हमारे जवानों के लिए अहम साबित होगा I  

  डीसीपीडब्लू के पीओएलएनईटी (पोलनेट) 2.0  अर्थात पुलिस नेटवर्क 2.0 का उद्घाटन करते हुए गृह राज्य मंत्री ने कहा कि इसके परिचालन से सीसीटीएनएस  की  मज़बूती बढ़ेगी। उन्होंने कहा कि देश में आपराधिक प्रवृत्तियों सहित आपदा के दौरान वास्तविक और सटीक जानकारी प्राप्त  करना इससे काफी सुगम हो जाएगाI  इस दौरान देश के विभिन्न राज्यों से वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से संपर्क स्थापित कर,  इस संचार नेटवर्क गुणवत्ता की जांच करते हुए श्री राय ने कहा कि यह उल्लेखनीय कार्य हमारे जवानों को अपने दूरदराज़ क्षेत्रों में तैनाती के दौरान भी अपने परिवारजनों से निरंतर संपर्क में रहने की सुविधा प्रदान करेगाI 

श्री राय ने कहा की, यह सम्मलेन बहुत महत्वपूर्ण है, जो आपदा संगठनों और पुलिस संचार को मज़बूत करने के  लिए बहुत उपयोगी होगा| उन्होंने आगे कहा की यह  संचार सुविधा एनडीआरएफ के लिए भी बहुत उपयोगी साबित होगी| मंत्री जी ने यह भी कहा कि आधुनिक पुलिस संचार प्रणाली हमारी सीमा सुरक्षा के लिए बहुत उपयोगी होगी|

इस दौरान डीसीपीडब्लू की ओर से तैयार की गई राष्ट्रीय संचार मानक पुस्तिका का विमोचन  भी किया। देश में अपनी तरह के पहले प्रयास में संपूर्ण देश के लिए एक राष्ट्रीय संचार मानक तैयार किया गया है जिससे विभिन्न राज्यों में पुलिस बल  सहित आपदा राहत एजेंसियों में उपयोग किए जा रहे संचार उपकरणों में एकरूपता बनी रहे और संचार की दिशा में नई उपलब्ध प्रौद्योगिकी का इस्तेमाल करते हुए स्वदेशी उपकरणों को अधिक से अधिक अपनाया जा सके I 

Leave a comment