कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए मास्क का किया गया वितरण

पटना : मानवता की सेवा ही सबसे बड़ा धर्म है। विश्व महामारी कोरोना वायरस के संक्रमण के समय बिहार के समस्तीपुर जिले के निवासी गौरी शंकर के पुत्र राजीव कुमार इसे चरितार्थ कर रहे हैं। श्री कुमार स्थायी निवासी समस्तीपुर जिले के हैं लेकिन अपनी कर्म भूमि पड़ोस के वैशाली जिला को बनाया है। जहां उन्होंने अपनी कपड़ा फैक्टरी में कोविड उन्नीस के बचाव के लिए मास्क  का निर्माण किया। इसके बाद उसे गरीबों के बीच वितरित कर दिया। वैशाली जिले के मुख्यालय शहर हाजीपुर से सटे जढ़ुआ में स्थित केनरा बैंक की ओर से संचालित रूडसेट के माध्यम से उन्होंने लोगों और सब्जी विक्रेताओं के बीच इस मास्क का वितरण किया।

वितरण के बाद श्री कुमार ने बताया कि उन्होंने जिन्दगी में काफी परेशानी और कठिनाईयों का सामना किया। जिसके बाद किसी भी कष्ट  के समय लोगों की सेवा करना वे अपना धर्म समझते हैं। उन्होंने कहा कि वर्ष 1997 में इंटर पास करने के बाद काम की तलाश शुरू हुई। जिसके लिए देश के कई शहरों में गया, लेकिन वहां काम नहीं मिलने के बाद रूडसेट की मदद से हौजरी उद्योग की रूख किया। जिसमें वर्तमान में 20 से 25 लोग काम कर रहे हैं। उसी फैक्ट्री में मास्क बनाया गया है। जो लोगों को कोरोना वायरस के कोविड उन्नीस से बचाव में काफी मददगार होगा। राजीव ने कहा कि अभी दो सौ लोगों के बीच मास्क का वितरण किया गया है। आगे लगभग एक हजार मास्क का वितरण करने का लक्ष्य रखा गया है।

Leave a comment