गांधी जयंती पर सफाई मित्रों को किया गया सम्मानित किया

नई दिल्ली : केंद्रीय आवासन और शहरी कार्य और पेट्रोलियम मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने गांधी जयंती के अवसर पर नई दिल्ली के कनॉट प्लेस स्थित सेंट्रल पार्क में सफाई मित्रों और फ्रंट लाइन वर्कर्स को सम्मानित किया। श्री पुरी ने कहा कि महात्मा गांधी ने स्वच्छता को सबसे ज्यादा महत्व दिया और 1916 में ही नागरिकों से व्यक्तिगत स्वच्छता अपनाने और आसपास की स्वच्छता सुनिश्चित करने की अपील की। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने राष्ट्रपिता के दृष्टिकोण को एक ठोस आकार दिया और 7 साल पहले स्वच्छ भारत मिशन का शुभारंभ किया। मिशन न केवल फिजिकल इंफ्रास्ट्रक्चर और सुविधाओं का निर्माण करने में सफल रहा, बल्कि लोगों में व्यापक जागरूकता पैदा करने और इसे एक जनांदोलन बनाने में भी बेहद सफल रहा है। श्री पुरी ने कहा कि सफाई मित्र और फ्रंटलाइन वर्कर्स हमारे आस पड़ोस को साफ रखने के लिए अथक प्रयास कर रहे हैं। खासकर कोविड महामारी के दौरान और एसबीएम की सफलता का बड़े पैमाने पर श्रेय इन्हीं लोगों को जाता है। उन्होंने कहा कि एसबीएम की सफलता की विश्वसनीयता इसलिए है क्योंकि इसका आंकलन और सत्यापन तीसरा पक्ष करता है। श्री पुरी ने कहा कि देश 2019 में ही खुले में शौच से मुक्त हो गया और प्रधानमंत्री की ओर से कल शुरू किया गया एसबीएम.2  अगले पांच वर्षों में देश को कचरा मुक्त बनाने की इच्छाशक्ति रखता है।

मंत्री ने कहा कि अगले दो दिनों में देश भर में लगभग 15 लाख सफाई मित्रों और स्वच्छता योद्धाओं को शहरी स्थानीय निकाय सम्मानित करेंगे। इसे एक वेब पोर्टल के माध्यम से रिकॉर्ड भी किया जाएगा। उन्होंने कहा कि यह देश को स्वच्छ बनाने में उनकी प्रमुख भूमिका और योगदान को सम्मानित करने का एक तरीका है।   एमओएचयूए सचिव ने कहा कि मैनहोल अब मशीन के छेद बन गए हैं, क्योंकि लोगों के सीवर में सफाई के लिए उसमें उतरना जरूरी नहीं रह गया है और अगर किसी को उतरना पड़ता भी है तो यह पूरे सुरक्षात्मक गियर के साथ और प्रोटोकॉल के अनुसार किया जाता है।  श्री पुरी ने उपस्थित सभी लोगों को स्वच्छता की शपथ भी दिलाई।

 

 

Leave a Comment