दक्षिण पश्चिमी मानसून के और आगे बढ़ने के लिए परिस्थितियां अनुकूल हो रही हैं

नई दिल्ली : केंद्रीय अरब सागर, कर्नाटक, तमिलनाडु, पुदुचेरी और कराईकल, दक्षिण-पश्चिम और पूर्वी-मध्य बंगाल की खाड़ी; पूरी दक्षिण-पूर्वी बंगाल की खाड़ी और पश्चिमी-मध्य बंगाल की खाड़ी के कुछ हिस्सों में अगले दो दिन के दौरान दक्षिण-पश्चिमी मानसून के और आगे बढ़ने के लिए परिस्थितियां अनुकूल होती जा रही हैं।   पश्चिमी विक्षोभ के असर के कारण, अगले 2 दिनों के दौरान पश्चिमी हिमालय क्षेत्र पर काफी भारी बारिश और गरज के साथ छींटे पड़ने की संभावना है और उत्तर पश्चिम भारत के मैदानी इलाकों में बिखरी बारिश तथा गरज के साथ छींटे पड़ सकते हैं।

अगले 2 दिनों के दौरान इन क्षेत्रों में बिजली और तेज हवाओं के साथ पृथक आंधी-तूफान आने की भी संभावना है। उत्तराखंड, पूर्वी उत्तर प्रदेश और दक्षिण राजस्थान में अगले 24 घंटों के दौरान भारी बारिश की संभावना है।

गुजरात, अंदरूनी महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, अंदरूनी कर्नाटक और तमिलनाडु में अगले 4-5 दिनों के दौरान पश्चिमी तट के साथ व्यापक वर्षा और गरज के साथ बौछारें और पृथक से लेकर बिखरी हुई बारिश की गतिविधि हो सकती है।

केरल और कोंकण और गोवा में और अगले 24 घंटों के दौरान तटीय कर्नाटक में भारी बारिश की संभावना है।

Leave a comment