पश्चिम बंगाल में तृणमूल ने परचम लहराया तो असम को भारतीय जनता पार्टी ने जीता

नई दिल्ली : चार राज्‍यों और एक केन्‍द्रशासित प्रदेश में मतगणना में किसी ने जीत पर झंडा लहराया तो किसी ने हार को देख कर घर की राह पकड़ ली। देश की नजर पश्चिम बंगाल पर टिकी थी। जहां केन्द्र में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी और प्रदेश में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस के बीच सीधा टक्कर था। इस टक्कर में मतगणना के दौरान ही तृणमूल को मिल रहे मतों ने यह बता दिया कि उसकी जीत आसान होने जा रही है और शाम होते ही तस्वीर साफ हो गयी कि राज्य में अगली सरकार तृणमूल की होगी। 292 में से 215 सीट तृणमूल के खाते में गयी। भले तृणमूल की कर्ताधर्ता और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को हार का सामना करना पड़ा। बीजेपी को 75 सीट पर ही संतोष करना पड़ा। सबसे परेशान करने वाली स्थिति यह रही कि भाजपा के सभी बड़े नेताओं को हार का सामना करना पड़ा। जिन नेता तृणमूल को छोड़ कर भाजपा का दामन थामा था उनकी स्थिति बेहद खराब हुई जब सभी को हार का सामना करना पड़ा। सबसे खराब हालत तो लेफ्ट का हुआ जिसने राज्य में लगभग 28 साल तक लगातार शासन किया था उसे एक सीट भी हासिल नहीं हुई।

पश्चिम बंगाल में स्थिति यह रही कि ममता ने महिलाओं को साध लिया जिससे उनकी जीत की राह आसान हो गयी।

ताजा आंकड़ों के अनुसार 292 सीट पर चुनाव हुआ। जिसमें से 214 सीट पर तृणमूल ने जीत हासिल की है। बीजेपी दूसरे स्थान पर रहते हुए 76 सीट पर कब्जा जमाया। लेफ्ट को एक भी सीट पर जीत नहीं सकी। अन्य प्रत्याशियों में दो को जीत मिली है, लेकिन चुनाव आयोग के अनुसार 157 सीटों का परिणाम घोषित कर दिया गया है। जिसमें से 141 सीट ऑल इंडिया तृणमूल कांग्रेस पर जीत हासिल कर ली है। जबकि भारतीय जनता पार्टी ने 40 सीट अपने खाते में कर लिया है। एक सीट पर निर्दलीय ने जीत हासिल की है। राष्ट्रीय सेक्युलर मजलिस पार्टी का प्रत्याशी एक सीट पर आगे चल रहा है।

इसके बाद लोगों के निशाने पर असम रहा। जहां भारतीय जनता पार्टी ने जीत हासिल कर ली है। असम में 126 सीट पर जीत हासिल की है। बीजेपी ने 78 सीट पर जीत हासिल कर सरकार बना लिया है। जबकि कांग्रेस को पिछले चुनाव में से पांच सीट खो कर 46 सीट पर ही संतोष करना पड़ा। यहां ऑल इंडिया यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट, असम गण परिषद, भारतीय जनता पार्टी, कम्यूनिष्ट पार्टी ऑफ इंडिया मार्क्ससिस्ट, इंडियन नेशनल कांग्रेस और यूनाईटैड पीपुल्स पार्टी लिबरल के प्रत्याशियों ने अपनी किस्मत आजमाई थी।

पुड्डुचेरी में 30 सीट पर चुनाव हुआ। जिसमें से ऑल इंडिया एन आर कांग्रेस को 10 सीट पर जीत मिली है। भारतीय जनता पार्टी और द्रविड़ मुनेत्र कड़गम को तीन-तीन, इंडियन नेशनल कांग्रेस को दो सीट पर जीत मिल चुकी है, जबकि सात सीटों पर गिनती जारी है।

तमिलनाडु में डीएमके ने सरकार बनाने की राह पकड़ ली है। जिसे 147 सीटों पर जीत हासिल हुई है। जबकि एडीएमके को 84 सीट पर जीत से संतोष करना पड़ा है। इस राज्य में अन्य उम्मीदवारों ने तीन स्थानों पर जीत हासिल किया है।

Leave a comment