बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सातवीं बार शपथ ग्रहण किया

पटना : बिहार के मुख्यमंत्री पद की शपथ नीतीश कुमार ने आज शाम ली। श्री कुमार सातवीं बार मुख्यमंत्री बने हैं। उनके साथ भाजपा के सात, जदयू के पांच और हिन्दुस्तानी अवाम मोरचा तथा विकासशील इनसान पार्टी के एक एक सदस्य ने शपथ ग्रहण किया है। नयी सरकार में आठ नये चेहरे शामिल किये गये हैं। मंत्रिमंडल में दो महिला सदस्य को भी जगह मिली है।

कटिहार से विधायक चुने गये तारकिशोर प्रसाद उप मुख्यमंत्री बने हैं। इनके पास 1.9 करोड़ रूपये हैं। इनकी कमाई का जरिया कृषि और व्यापार है। श्री प्रसाद वैश्य समाज से आते हैं। 5 जनवरी 1956 को सहरसा के सलखउआ में जन्में श्री प्रसाद 1980 में भारतीय जनता पार्टी से जुड़े।

बेतिया से चुनी गयीं रेणु देवी भी कैबिनेट में शामिल की गयी हैं। इनके पास तीन करोड़ सात लाख रूपये हैं। साथ ही राइफल और पिस्तौल है। इंटर पास हैं। बेतिया के एक साधारण परिवार में जन्मीं रेणु जी का संघ से काफी जुड़ाव रहा है। तीन भाई और पांच बहनों में सबसे बड़ी हैं। इनका विवाह कलकत्ता के अभियंता के साथ हुआ। पति के निधन के बाद मायके बेतिया को अपनी कर्मभूमि बनाया। 2000 में पहली बार विधायक बनीं। बीरबल यादव को हराया। 2005 में राजद के मंगल यादव को पराजित किया।

भाजपा नेता रामसूरत राय ने ली शपथ। उन्होंने औराई विधानसभा सीट से जीत दर्ज की है।

भाजपा विधायक जीवेश मिश्रा ने मैथिली भाषा में शपथ लिया। श्री मिश्रा दरभंगा जिला के जाले से चुनकर आए हैं।

भाजपा नेता रामप्रीत पासवान ने शपथ  ली। वे राजनगर से विधायक चुनकर आए हैं।

अमरेंद्र प्रताप सिंह ने मंत्री पद की शपथ ग्रहण की। वे आरा से भाजपा विधायक चुने गए हैं।

मंगल पांडे ने मंत्री पद की शपथ ली। वे फिलहाल बिहार विधान परिषद के सदस्य हैं।

वीआईपी के प्रमुख मुकेश साहनी ने शपथ ली है। वे सिमरी बख्तियारपुर से चुनाव हार गए थे, लेकिन उन्हें मंत्रिमंडल में स्थान मिला है। उन्हें सन ऑफ मल्लाह भी कहा जाता है।

जीतन राम मांझी के बेटे संतोष सुमन ने मंत्री पद की शपथ ली। 2018 में विधान परिषद के सदस्य बनाए गए थे।

जदयू नेता शीला मंडल ने मंत्री पद की शपथ ली है। वे मधुबनी के फुलपरास विधानसभा से पहली बार जीत कर आईं हैं।

मुंगेर के तारापुर से दूसरी बार विधायक बने मेवालाल चौधरी ने ली शपथ।  श्री चौधरी कृषि विश्वविद्यालय में वीसी भी रह चुके हैं। इसके साथ ही बिजेंद्र यादव और अशोक चौधरी ने भी ली मंत्री पद की शपथ।

शपथ ग्रहण करने के बाद नीतीश सरकार की पहली बैठक 17 नवम्बर को होगी।

Leave a comment