नई दिल्ली : निर्वाचन आयोग ने बिहार विधानसभा चुनाव 2020 की घोषणा कर दी है। चुनावी घोषणा के साथ ही आदर्श आचार संहिता लागू हो गयी। इसके साथ ही तारीखों की भी घोषणा आयोग ने कर दी है। मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा. चुनाव आयोग ने बिहार में तीन चरणों में चुनाव कराने का निर्णय किया है। कोरोना महामारी के समय देश का यह पहला चुनाव है। पहले चरण में 16 जिलों के 71 विधानसभा सीट पर चुनाव होगा। जिसमें  भागलपुर, बांका, मुंगेर, लखीसराय, शेखपुरा, जमुई, खगड़िया, बेगूसराय, पूर्णिया, अररिया, किशनगंज और कटिहार जिले हैं। इन जिलों में 28 अक्टूबर को मतदान होगा।

अधिसूचना जारी होने की तिथि – एक अक्टूबर

नामांकन की अंतिम तिथि – 8 अक्टूबर
नामांकन पत्रों की जांच  – 9 अक्टूबर
नाम वापस लेने की तिथि – 12 अक्टूबर होगी।

दूसरे चरण में 17 जिलों के 94 विधानसभा सीट हैं। जिसमें मुजफ्फरपुर, सीतामढी, शिवहर, पश्चिमी चंपाण, पूर्वी चंपारण, वैशाली, दरभंगा, मधुबनी, समस्तीपुर, सहरसा, सुपौल और मधेपुरा हैं। यहां पर 3 नवंबर को मतदान होगा।

अधिसूचना जारी होगी –  9 अक्टूबर

नामांकन की अंतिम तिथि –  16 अक्टूबर
नामांकन पत्रों की जांच – 17 अक्टूबर

नाम वापस लेने की तिथि : 19 अक्टूबर तक  होगी।

जबकि तीसरे चरण में 78 विधानसभा सीटों के लिए  पटना, बक्सर, सारण, भोजपुर, नालंदा, गोपालगंज, सिवान, बोधगया, जहानाबाद, अरवल, नवादा, औरंगाबाद, कैमूर और रोहतास शामिल हैं। इन जिलों में 7 नवंबर को मतदान होगा।

अधिसूचना जारी होगी –  13  अक्टूबर

नामांकन की अंतिम तिथि –  20  अक्टूबर
नामांकन पत्रों की जांच – 21 अक्टूबर

नाम वापस लेने की तिथि : 23 अक्टूबर होगी।

बिहार विधानसभा में सीटों की संख्या 243 है. 38 सीटें अनुसूचित जाति के लिए और 2 सीटें अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित हैं. राज्य में 7 करोड़ 79 लाख मतदाता हैं। इसमें महिला मतदाताओं की संख्या 3 करोड़ 39 लाख है। राज्य के हर जिले में एक मतदान केन्द्र को पूरी तरह महिलाएं संचालित करेंगी। मतदान सुबह 7 बजे से शाम 6 बजे तक होगा। आयोग के अनुसार 5 से अधिक लोग घर पर जाकर प्रचार नहीं कर सकेंगे। प्रत्याशी ऑनलाइन भी नामांकन कर सकेंगे। चुनाव में रैलियां नहीं होगी अगर करना होगा तो वर्चुअली ही सम्भव होगा। आयोग ने कोरोना महामारी को देखते हुए चुनाव को लेकर विशेष तैयारी की है। जिसमें 6 लाख पीपीई किट का इस्तेमाल होगा। 46 लाख मास्क की व्यवस्था की गई है। 7 लाख हैंड सैनिटराइजर का इस्तेमाल होगा।  नामांकन के दौरान प्रत्याशी दो से ज्यादा वाहन का प्रयोग नहीं कर सकेंगे।  प्रचार के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा। कोरोना पॉजिटिव मरीज आखिरी घंटे में मतदान कर सकेंगे। एक मतदान केंद्र के अंदर मतदाताओं की अधिकतम सीमा एक हजार से लेकर पन्द्रह सौ तक ही रहेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *