भाजपा शिक्षक प्रकोष्ठ के पदाधिकारियों को मिला विश्वविद्यालयों का प्रभार

पटना  । बिहार प्रदेश भाजपा शिक्षक प्रकोष्ठ ने प्रकोष्ठ के पदाधिकारियों और कार्य समिति सदस्यों को राज्य के विभिन्न विश्वविद्यालयों का प्रभारी बनाया है। पार्टी के प्रदेश सह-संयोजक डॉ. कुमार संजीव को ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय और कामेश्वर सिंह दरभंगा संस्कृत यूनिवर्सिटी के साथ-साथ आर्यभट्ट ज्ञान विश्वविद्यालय का प्रभारी बनाया गया है। प्रदेश सह-संयोजक पंकज सिंह को बी. आर. आंबेडकर बिहार यूनिवर्सिटी और जे. पी. यूनिवर्सिटी छपरा का प्रभारी बनाया गया है। डॉ. अखिलेश्वर तिवारी,  डॉ. संजय श्रीवास्तव और अनिल गिलानी को संयुक्त रूप से पटना यूनिवर्सिटी और पाटलिपुत्र यूनिवर्सिटी का प्रभारी नियुक्त किया गया है। डॉ. मनीष रंजन और विकास चंद्र को संयुक्त रूप से वीर कुंवर सिंह यूनिवर्सिटी (आरा), कृष्णनंदन शर्मा को मगध यूनिवर्सिटी (बोधगया), डॉ. अनिल कुमार को पूर्णिया यूनिवर्सिटी और बी. एन. मंडल यूनिवर्सिटी (मधेपुरा) का प्रभारी बनाया  गया है ।

कोरोना महामारी और बिहार विधान सभा चुनाव के बाद भारतीय जनता पार्टी शिक्षक प्रकोष्ठ बिहार प्रदेश की प्रमुख पदाधिकारियों की भाजपा कार्यालय स्थित कैलाशपति मिश्र सभागार में हुई। इस पहली बैठक के बाद प्रकोष्ठ के प्रदेश संयोजक डॉ. अनिल कुमार सिंहा ने विश्वविद्यालय प्रभारियों के नामों की घोषणा की। बैठक में बिहार विधानसभा चुनाव में भाजपा और एन.डी.ए. की जीत पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए प्रदेश अध्यक्ष डॉ. संजय जायसवाल  तथा सभी प्रमुख नेताओं को बधाई दी गई ।

बैठक में राज्य के शिक्षक और शिक्षा की स्थिति पर गहन विचार-विमर्श हुआ तथा संगठन को सशक्त करने के लिए विभिन्न प्रकार की योजनाओं को क्रियान्वित करने  का निर्णय किया लिया गया। शिक्षक प्रकोष्ठ के सभी पदाधिकारी एवं कार्यकर्ताओं द्वारा 15 जनवरी से 27 फरवरी के बीच में होने वाले राम मंदिर निर्माण हेतु धन संग्रह का हरसंभव सहयोग करने का निर्णय लिया गया। सभी विश्वविद्यालयों में संगठन को गति प्रदान करने, शिक्षकों की समस्या उठाने, समाधान करने एवं जिला बैठकों को माह में एक बार सुनिश्चित करने के लिए विश्वविद्यालय प्रमुख के रूप में जिम्मेवारी दी गई। बैठक में जनवरी के अंतिम सप्ताह में प्रदेश कार्यसमिति की बैठक बुलाने का भी निर्णय किया गया जिस की तिथि की घोषणा भाजपा प्रदेश अध्यक्ष की स्वीकृति के बाद की जाएगी।

बैठक में अनुदानित महाविद्यालयों की अद्यतन स्थिति, अतिथि शिक्षकों  एवं प्राइवेट विद्यालयों की समस्याओं पर गहन विचार करने के लिए तीन अलग-अलग समितियां बनाई गई जो अपनी रिपोर्ट प्रदेश संयोजक को देंगी तथा उसी आधार पर गहन विचार-विमर्श के बाद प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में प्रस्ताव पारित किया जाएगा। साथ ही बिहार सरकार से भी मिलकर उनको निदान के लिए आग्रह किया जाएगा। बैठक में बताया गया कि भारतीय जनता पार्टी एकमात्र राजनीतिक दल है जो शिक्षा क्षेत्र की पूरी चिंता करती है और उसका विश्वास है कि शिक्षित वर्ग बिहार के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका में सहभागी बनेगा तो बिहार देश में अग्रणी होगा। बिहार सरकार शिक्षा को पटरी पर लाने के लिए कटिबद्ध है। बैठक की अध्यक्षता प्रदेश सह-संयोजक डॉ. अनिल कुमार सिंहा ने की। बैठक में प्रदेश सह-संयोजक डॉ. कुमार संजीव, डॉ. पंकज सिंह, डॉ. मनीष रंजन, डॉ. अनिल कुमार, डॉ. गिरिजेश नंदन कुमार, प्रो. गणेश प्रसाद सिंह, सुभेश कुमार सिंह उर्फ बऊआ जी, मीडिया प्रभारी डॉ. संजय श्रीवास्तव, डॉ. रामनाथ सिंह, डॉ. मनोज कुमार सिंह, कुमार पीयूष राज, अजय कुमार सिंह उर्फ कुंदन सिंह, कृष्णनंदन शर्मा,  ब्रज भूषण उपाध्याय समेत कई लोग शामिल थे।

Leave a Comment