राजद ने तीन विधायकों को पार्टी से किया निष्कासित

पटना : बिहार में विधान सभा चुनाव की आहट सुनाई देने लगी है। इसके साथ ही पार्टियों में नेताओं का आना जाना शुरू हो गया है। प्रदेश की कद्दावर मानी जाने वाली राष्ट्रीय जनता दल ने अपने तीन विधायकों को पार्टी विरोधी गतिविधियों में शामिल होने के आरोप में छह वर्ष के लिए पार्टी से निकाल दिया है। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह ने पटना में संवाददाताओं से बात करते हुए कहा कि जिन विधायकों को निष्कासित किया गया है,  उसमें गाय घाट से महेश्वर प्रसाद यादव,  पातेपुर से प्रेमा चैधरी और केवटी के विधायक फराज फातमी शामिल हैं। अध्यक्ष ने कहा कि तीनों विधायक जदयू के सम्पर्क में हैं और थे। सभी पार्टी विरोधी गतिविधियों में संलिप्त थे। राजद को जानने वालों ने प्रेमा चौधरी के निष्कासन पर आश्चर्य जताया है। उनका कहना है कि श्रीमती चौधरी कभी पार्टी के लिए एक मील का पत्थर मानी जाती थीं। पार्टी ने उन्हें निष्कासित क्यों कर दिया, यह यक्ष प्रश्न है। इसके साथ ही जदयू के एक बड़े नेता के राजद में लौटने के संकेत मिले हैं। कभी पूर्व मुख्यमंत्री के खासम-खास माने जाने वाले यह राजनीतिक जदयू में आ गये थे लेकिन अब एक बार फिर उन्होंने अपनी पुरानी पार्टी में लौटने का मन बना लिया है।

 

Leave a Comment