लालू यादव को मिली जमानत, समर्थकों में छायी खुशी

रांची : झारखंड हाईकोर्ट ने बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव को जमानत दे दी है। न्यायालय ने दुमका कोषागर के मामले में आधी सजा पूरी कर लेने को आधार मानते हुए श्री यादव को जमानत पर छोड़ा है। न्यायालय ने श्री प्रसाद को पांच-पांच लाख रुपए जुर्माने की राशि जमा करने का निर्देश देते हुए एक-एक लाख के निजी मुचलके पर जमानत दी है।

 

रांची उच्च न्यायालय हाईकोर्ट ने लालू यादव को जमानत देने के साथ कुछ शर्त भी लगाया है।

न्यायालय ने अपने आदेश में कहा है कि अदालत की बिना अनुमति के लालू यादव देश से बाहर नहीं जायेंगे। किसी भी परिस्थिति में उनका पता और मोबाइल नंबर बदलेगा।

 

न्यायालय में श्री प्रसाद के अधिवक्ता कपिल सिब्बल ने अपनी बात रखते हुए कहा कि लालू यादव ने अपनी आधी सजा पूरी कर ली है। इस लिए न्यायालय को उन्हें जमानत देनी चाहिए।

 

गौरतलब हो कि सीबीआइ न्यायालय ने विभिन्न धाराओं के अंतर्गत श्री यादव को सात – सात साल की सजा सुनायी थी।

 

     न्यायालय ने 19 फरवरी को जमानत याचिका वापस कर दिया था

इस वर्ष नौ अप्रैल को लालू प्रसाद ने अपनी आधी सजा पूरी कर ली है।  इसके बाद दुमका के अधिवक्ता देवर्षि मंडल ने रांची उच्च न्यायालय में एक याचिका दायर की। याचिकाकर्ता श्री मंडल ने न्यायालय से जमानत देने की गुहार लगायी थी।  इसके पूर्व में भी लालू प्रसाद को जमानत देने की मांग न्यायालय से की गयी थी, लेकिन अदालत ने याचिका को 19 फरवरी को लौटा दिया था। कोर्ट ने कहा कि श्री प्रसाद ने अभी आधी सजा पूरी नहीं की है। जब आधी सजा पूरी हो गयी इसके बाद न्यायालय ने मामले की सुनवाई करते हुए जमानत दिया है।

गौरतलब हो कि यह मामला दुमका कोषागार से जुड़ा हुआ है। जिसमें श्री प्रसाद पर आरोप है कि उन्होंने दुमका कोषागार से 89 लाख 27 हजार की अवैध निकासी की थी। उच्चत्तम न्यायालय के नियमों के अनुसार आधी सजा पूरी होने के बाद ही किसी को जमानत मिल सकती है। अभी श्री प्रसाद का  दिल्ली के एम्स अस्पताल में ईलाज किया जा रहा है।

श्री प्रसाद को जमानत मिलने की सूचना मिलते ही उनके समर्थकों में खुशी छा गयी है। देश के कई हिस्सों में उनके समर्थक मिठाई बांट रहे हैं तो कहीं नाच-गान कर रहे हैं। कई समर्थकों ने मंदिरों में जाकर पूजा – अर्चना की।

 

जानकारी मिलते ही श्री प्रसाद के पुत्र और बिहार के पूर्व उपमुख्य मंत्री तेजस्वी प्रसाद, पूर्व मुख्यमंत्री और श्री प्रसाद की पत्नी राबड़ी देवी तत्काल दिल्ली के लिए रवाना हो गये।

 

श्री प्रसाद को जमानत मिलने के बाद तेजस्वी यादव ने कहा कि हमें न्याय मिलने की पूरी आशा थी। जो पूरी हुई है।

Leave a comment