नई दिल्ली : केरल में नोवेल कोरोना वायरस के तीसरे मरीज का पता लगा है। इस मरीज ने चीन के वुहान की यात्रा की थी। मरीज में नोवेल कोरोना वायरस के लक्षण पाए गए हैं और अस्पताल में उसे अलग वार्ड में रखा गया है। अस्पताल प्रशासन के अनुसार मरीज की हालत स्थिर है और उसे कड़ी निगरानी में रखा गया है।

कैबिनेट सचिव ने नोवेल कोरोना वायरस से निपटने की तैयारी का जायजा लेने के लिए नई दिल्ली में स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय, विदेश मंत्रालय, गृह मंत्रालय, नागरिक उड्डयन मंत्रालय, स्वास्थ्य अनुसंधान विभाग के सचिवों तथा आईटीबीपी, एएफएमएस और एनडीएमए के प्रतिनिधियों के साथ एक उच्च स्तरीय समीक्षा बैठक की। इसके बाद एक नया यात्रा परामर्श जारी किया गया। जिसमें लोगों को चीन की यात्रा न करने की हिदायत दी गई है। परामर्श में बताया गया है कि लौटने पर यात्रियों को अलग-थलग रखा जा सकता है। 15 जनवरी, 2020 के बाद से अब तक जिसने भी चीन की यात्रा की है और जो भी चीन की यात्रा पर जाएगा, उन्हें वापसी में अलग-थलग रखा जाएगा।

प्रशासनिक सूत्रों के अनुसार अब तक 445 उड़ानों के 58,658 यात्रियों की स्क्रीनिंग की गई है। रोग के लक्षण वाले कुल 142 यात्रियों को अस्पतालों में अलग-थलग रखा गया है। 130 नमूनों की जांच की गई है, केरल में अब तक तीन मरीजों में रोग के लक्षण मिले हैं। जिन्हें कड़ी निगरानी में रखा गया है। उनकी हालत स्थिर है।

वूहान से 330 यात्रियों का दूसरा जत्था भी भारत पहुंच चुका है, जिसमें मालदीव के सात यात्री शामिल हैं। इनमें से सात मालदीवी नागरिकों सहित 300 यात्रियों को आईटीबीपी चावला कैम्प में तथा 30 यात्रियों को मानेसर में रखा गया है। इन सभी लोगों की स्वास्थ्य निगरानी की जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *