पटना : बिहार में विधानसभा चुनाव को राजनीतिक सरगरमी चरम पर है। हर दल के प्रमुख कार्यालय पर टिकट लेने वाले की भीड़ लगी है। इसके साथ ही राजद-कांग्रेस समेत विपक्षी दलों के महागठबंधन ने 243 सदस्य राज्य विधानसभा के लिए अपनी सीट साझा करने के निर्णय की घोषणा कर दी है।

जबकि उनके सहयोगी विकासशील इनसान पार्टी, वीआईपी ने इस बंटवारें पर असंतोष जताया है। बिहार की राजधानी पटना में छह दलों के नेताओं की एक संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में सीट के बंटवारे की अंतिम घोषणा की गयी। राजद नेता और पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव ने घोषणा करते हुए कहा कि राजद को सीट बंटवारे में 144 सीट मिली है, जबकि कांग्रेस को 70 सीट मिली है.

इसके अतिरिक्त कांग्रेस पार्टी को वाल्मीकि नगर लोकसभा सीट भी मिली है, जिस पर 07 नवंबर को विधानसभा चुनाव के साथ ही मतदान होगा। उन्होंने कहा कि महागठबंधन में नए प्रवेश करने वाले वामपंथी दल 29 विधानसभा क्षेत्र में अपने उम्मीदवार खड़े करेंगे। इसमें सीपीआई-एमएल को 19, सीपीआई को 06 और सीपीएम को 04 सीट मिली है।

उन सीटों की घोषणा एक दो दिन में कर दी जाएगी। बाद में कार्यक्रम स्थल के बाहर वीआईपी पार्टी के कार्यकर्ता  उत्तेजित हो गये और उन लोगों राजद नेता तेजस्वी प्रसाद यादव के खिलाफ नारे लगाए। कार्यकर्ताओं ने मुकेश सहनी के साथ सीट बंटवारे में धोखा होने का आरोप लगाया। बाद में श्री सहनी ने कहा कि तेजस्वी अपनी बात पर नहीं रहें। उन्होंने पार्टी को 25 सीट और उपमुख्यमंत्री का पद देने का वादा किया था। उन्होंने कहा कि पार्टी जल्द ही इस पर अपना रूख जारी करेगी। इस दौरान संवाददाताओं ने जब तेजस्वी प्रसाद यादव ने विकासशील इनसान पार्टी के कार्यकर्ताओं की ओर से किये जा रहे हंगामे पर पूछा तो उन्होंने कुछ भी नहीं कहा।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *