मांगों को पूरा कर शिक्षक हड़ताल समाप्त कराये बिहार सरकार : केदारनाथ

पटना : कोरोना वायरस के प्रकोप से लड़ने में हर रोज मदद करने के लिए कई हाथ हर रोज उठ रहे हैं। इसी कड़ी में विधान पार्षद सह अध्यक्ष बिहार माध्यमिक शिक्षक संघ केदारनाथ पाण्डेय ने अपने व्यक्तिगत कोष से एक लाख रूपये का सहयोग मुख्यमंत्री राहत कोष में दिया है।

पार्षद ने दान देने के बाद कहा कि कोरोना एक गंभीर वैश्विक आपदा है जिसकी चपेट में पूरा विश्व आ गया है। इस आपदा ने मानव के अस्तित्व पर प्रश्न खड़े कर दिये हैं। इससे बचने के लिए सभी को भारत सरकार, राज्य सरकार और स्वास्थ विभाग के दिशा-निर्देशों का पालन करना चाहिए।

उन्होंने राज्य के समृद्ध नागरिकों से सरकार के राहत कोष में सहयोग करने की अपील की। अपने आस पास के गरीब लोगों को भरपेट भोजन और जरुरी सुविधाएं भी उपलब्ध करवाने की सलाह लोगों को दी है।

श्री पाण्डेय ने कहा कि कोरोना के कहर से पूरे देश की जिंदगी थम गई है। बिहार में राज्य सरकार ने पिछले दो माह से करीब 4 लाख कलम के सिपाहियों अर्थात शिक्षकों को सड़क पर ला दिया है। व्यवस्था की विफलता ने शिक्षकों को पहले से ही लॉकडाउन कर दिया था अब वह अपने पसीने का हक मांगने पर दमन का शिकार हो रहे हैं।

विधान पार्षद ने कहा कि क्या कोरोना से भी बड़े दुश्मन राष्ट्र निर्माता हैं, जो सामाजिक परिवर्तन के जीवंत हथियार थामें, हाथ से ज्ञान की भाषा को परिशात करने वाली मशाल जलाएं ज्ञान मंदिर से बाहर है।

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री जी कोरोना को हमें भी हराना है। विद्यालय भवनों में पीड़ितों का प्रवास है और लॉक डाउन लंबा चलने की संभावना है। क्या तब तक शिक्षकों पर दमन चक्र चलता रहेगा।

श्री पाण्डेय ने एक दूसरे के परस्पर सहयोग से कोरोना बीमारी से लड़ने की अपील भी की और राज्य सरकार को नियोजित माध्यमिक तथा उच्चतर माध्यमिक शिक्षकों, पुस्तकालयाध्यक्षों, छात्रों तथा सरकार के हित में जल्द से जल्द बिहार माध्यमिक शिक्षक संघ के साथ वार्ता कर उनकी मांगें जैसे सातवें वेतन आयोग के अनुशंसित वेतनमान के लेवल-7 एवं लेवल-8 जो क्रमशः 44900 एवं 47600 को लागू करने, सेवाशर्त, ऐच्छिक स्थानान्तरण, सेवा की निरन्तरता, भविष्य निधि, पेंशनादि, अवकाश तथा ई.पी.एफ की सुविधा और माध्यमिक तथा उच्च माध्यमिक विद्यालयों को पंचायती राज से अलग करने संबंधी अपने जायज मांगों को लेकर बिहार माध्यमिक शिक्षक संघ के नेतृत्व में 25 फरवरी से जारी शांति पूर्ण अनिश्चितकालीन को समाप्त करवाने की सहाल दी।

इस अवसर पर बिहार माध्यमिक शिक्षक संघ के प्रमंडलीय सह संयोजक आलोक आजाद ने कोरोना आपदा के प्रकोप से लड़ने के लिए विधान पार्षद सह अध्यक्ष बिहार माध्यमिक शिक्षक संघ केदारनाथ पाण्डेय के अपने व्यक्तिगत कोष से एक लाख रूपये के सहयोग करने का स्वागत किया तथा अन्य बिहार के नेताओं को केदारनाथ पाण्डेय के बिहारियों के प्रति प्रेम,सहयोग और समर्पन की भावना से सिख लेने की बात कही।

 

Leave a comment