Ram Navami 2021 , जानिये कैसे करे भगवान श्री राम की पूजा , क्या है शुभ मुहूर्त

Ram Navami 2021

Ram Navami 2021 News

नई दिल्ली : हिन्दुओं के लिए रामनवमी का पर्व काफी महत्व रखता है। इसे एक प्रकार से नववर्ष की शुरूआत भी माना जाता है। रामनवमी हर वर्ष चैत्र शुक्ल महीने की नवमी तिथि मनाया जाता है। वर्ष 2021 में रामनवमी 21 अप्रैल 2021 दिन बुधवार को मनायी जा रही है। हिन्दु धर्म में ऐसी मान्यता है कि चैत्र शुक्ल नवमी तिथि को भगवान राम का जन्म हुआ था। जिसके कारण इस दिन को राम जन्मोत्सव के रूप में मनाया जाता है। साथ ही इस दिन मां सिद्धिदात्री की पूजा के साथ चैत्र नवरात्रि का समापन भी होता है जिससे यह दिन श्रद्धालुओं के लिए खास होती है।

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार वर्ष 2021  में रामनवमी के मौके पर पांच ग्रह का एक शुभ संयोग बन रहा है। ज्योतिष के अनुसार वर्ष 2013 में ऐसा संयोग बना था। नौ वर्ष के बाद यह दुर्लभ संयोग एक बार फिर बन रहा है।

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार यह भी एक अजीब संयोग है कि वर्ष 2021 में राम नवमी 21 अप्रैल को मनायी जा रही है। इस दिन सुबह 8 बजे तक पुष्य नक्षत्र होगा,  उसके बाद अश्लेषा नक्षत्र की शुरूआत होगी। जिसका प्रभाव सुबह 08 बजकर 15 मिनट तक होगा। रामनवमी के दिन चंद्रमा दिन और रात खुद की राशि कर्क में ही रहेंगे। सप्तम भाव में स्वग्रही शनि, दशम भाव में सूर्य, बुध और शुक्र है। ग्रहों की इस स्थिति परिस्थिति के कारण वर्ष 2021 की रामनवमी काफी शुभ मानी जा रही है।

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार भगवान राम का जन्म कर्क लग्न और कर्क राशि में ही हुआ था। रामनवमी पर इस बार  लग्न में स्वग्रही चंद्रमा का होना सुख शांति प्रदान करेगा। प्रातः पुष्य नक्षत्र और इसके बाद अश्लेषा नक्षत्र होने से इस दिन की शुभता भी बढ़ रही है।

चैत्र नवरात्रि और राम नवमी में 2021 का शुभ मुहूर्त  –

चैत्र नवरात्रि और नवमी तिथि की शुरूआत  – 21 अप्रैल 2021 को रात्रि 12 बजकर 43 मिनट से।

चैत्र नवरात्रि और नवमी तिथि का समापन – 22 अप्रैल, 2021 को रात्रि 12 बजकर 35 मिनट पर।

रामनवमी की पूजा तथा हवन का शुभ मुहूर्त  – सुबह 11 बजकर 02 मिनट से दोपहर 01 बजकर 38 मिनट तक।

राम नवमी का समय  – दोपहर 12 बजकर 20 मिनट पर होगा।

 

Leave a comment