दक्षिण पश्चिम मॉनसून ने दक्षिण अंडमान सागर में किया प्रवेश

राष्ट्रीय मौसम पूर्वानुमान केंद्र और भारतीय मौसम विभाग के चक्रवात चेतावनी विभाग के अनुसार : –

  • दक्षिण पश्चिम मॉनसून दक्षिण बंगाल की खाड़ी, निकोबार प्राय द्वीप और अंडमान सागर के कुछ क्षेत्रों में प्रवेश कर गया है।
  • मॉनसून की ऊत्तरी सीमा (एनएलएम) अक्षांश5 डिग्री उत्तर और देशांतर 85 डिग्री पूर्व,  अक्षांश 8 डिग्री उत्तर और देशांतर 90 डिग्री पूर्व, कार निकोबार, अक्षांश 11 डिग्री उत्तर और देशांतर 95  डिग्री पूर्व पार कर चुकी है।

अगले 3-4  दिनों के दौरान मॉनसून की क्या होगी स्थिति

  • दक्षिण पश्चिम मानसून के अगले48 घंटे के दौरान दक्षिण बंगाल की खाड़ी, अंडमान सागर, एवं अंडमान प्राय द्वीप के बाकी हिस्सों और पूर्व मध्य बंगाल की खाड़ी के कुछ इलाकों में और आगे बढ़ने के अनुकूल परिस्थितियां बन रही हैं।

दक्षिण पश्चिम मॉनसून के और आगे बढ़ने से संबंधित कुछ लक्षण भी दिख रहे हैं।

  • पिछले24 घंटे के दौरान निकोबार प्राय द्वीप की अधिकांश जगहों पर बारिश हुई है।
  • दक्षिण-पश्चिम हवा निचले स्तरों पर तेज (25 नाइट्स तक) हो चुकी है। दक्षिण अंडमान सागर, निकोबार प्रायद्वीप और दक्षिण बंगाल की खाड़ी के दक्षिणी हिस्सों में दक्षिणी अक्षांश तक यह हवा गहराई (6 किलोमीटर तक) ले चुकी है।
  • दक्षिण बंगाल की खाड़ी और निकोबार प्रायद्वीप से सटे दक्षिण अंडमान सागर में15 मई के बाद से बादल छाया हुआ है।

इस क्षेत्र में उपग्रह (इनसैट-3डी) से मिली जानकारी के अनुसार निर्गामी दीर्घ लहर प्रसारण 200 डब्ल्यू और वर्ग मीटर से कम है।

अगले 5 दिन के दौरान अंडमान और निकोबार प्रायद्वीप के लिए पूर्वानुमान और चेतावनी जारी की गयी है। जिसके अनुसार

  • अंडमान और निकोबार प्रायद्वीप के अधिकांश हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है। कुछ जगहों पर भारी बारिश की भी सम्भावना है।

Leave a comment